हिरकणी

Minakshib
Posted July 26, 2019 from India

औरंगाबाद जिल्हे मे ब्लॉक सोयगाव (बहुलखेडा)गाँव मे एक महिला लाकी दू:ख भरी कहाणी है ।यह महिला दलित है।और परित्यक्ता है।यह महिला हमारे सस्थां में अपना दु:ख बताने आयी  ।तो मैने उसे ।कोई भी जिने का साहरा नही है तो एक    पं. स. प्रशिक्षण और    शिलाई मशीन दे दिया और उसे काम करणे के लिए बताया ।तो आज ओ महिला अपने साथ -साथ 10 महिला को लेके ग्रारमेेन्ट . 

Comments 4

Log in or register to post comments
Minakshib
Jul 26
Jul 26

सामुहीक उद्योग करना

Jill Langhus
Jul 27
Jul 27

नमस्ते प्रिय मिनाक्षी,

क्या आप कह रहे हैं कि इस गरीब महिला को लकवा मार गया था, उसे किसी तरह काम करने की उम्मीद थी? मुझे नहीं लगता कि अनुवाद ठीक से काम किया है। धन्यवाद! मुझे आशा है आप अच्छा कर रहे हो?!

Minakshib
Jul 27
Jul 27

Thanks Tai हम फिरसे मिलेगें

Jill Langhus
Jul 27
Jul 27

आपका बहुत स्वागत है, प्रिय। मुझे आशा है कि आप एक अच्छा सप्ताहांत होने वाले हैं :-) XX