अदंर की आवाज

Minakshib
Posted December 9, 2019 from India
महिला और बेटियां पर होने वाले अत्याचार
ये आवाज बाहर आनी चाहिए ऐसै मुझे लगता है इसलिए मैंने ये सर्वे का काम किया है . मुझे बहुत सारा काम आगे करना है.

     मैं इंडिया से (महाराष्ट्र) के औरंगाबाद जिल्हा तालुका सोयगाव (ब्लाक) मे काम करती हुं  मेरे काम करते समय महीला ओ या बच्चीयां के साथ ज्यादा टाईम काम करती हुं तो ऐसा एक सवाल सामने आया  है की जब  लोक छे महिने के लिये काम के लिये बाहर जाते है (मायर्गेशन)   गन्ने के काम के लिये तो उनकी बेटियां भी साथ में जाती है .तो उनकी बेटियां को वहां काम करते समय वहां के लोग जो ठेकेदार हो या बाकी के सब पुरुष ये कम उमरवाली बेटियां के साथ लैंगिक संबंध की मांग करते है. और जोर जबरदस्ती भी करते है. तो ऐंसी  बच्चीयां के साथ मैनै मुलाखत ली और उनका कहना है की ये बात तुम किसीको मत बताना क्योकी हमारे जिने का सवाल है . हमे बाद मे काम नहीं मिलता तो हमारे मां बाप हमे डाटेगें तो हम कहीके नहीं रहगें ऐसा उनका कहना है .तो हम   उसीके साथ अब काम करना शूरू किया है ऐसे पिडीत महिला और बेटीयां (२२) है उनके साथ अभी चर्चा हो गई है.सभी की एक अलग अलग स्टोरी है . मुझे बहुत ही दु:ख हुआ की अभी भी हमे  वस्तू के रूप में देखते .हम हमारे मन के विरुद्ध कितनी बाते करते है ओ हमे पसंद नहीं होती. 16डेज के अभ्यास मे ये सच्च सामने आया है.

This story was submitted in response to #IStandWithHer.

Comments 12

Log in or register to post comments
Karen Quiñones-Axalan
Dec 10, 2019
Dec 10, 2019

Hello, sister Minakshib,

I like this photo capturing the safe circles you have with women, a time to share stories and solutions. We stand with you, dear. Thank you for sharing.

Wusufor
Dec 11, 2019
Dec 11, 2019

Dear Sister,
Thanks for sharing. Actions they say speaks louder than words can. The picture said it all. I stand with her.
#istandwithher
Regards

Jane
Dec 11, 2019
Dec 11, 2019

My sister, you doing great and remember women need to stand together! We would be so much more powerful if we supported & lifted each other up! so keep it up sister and thanks for sharing.

Jill Langhus
Dec 11, 2019
Dec 11, 2019

हाय मिनाक्षी,

आप कैसे हैं? अपनी अद्भुत बैठक और अपडेट साझा करने के लिए धन्यवाद। कृपया अपना महत्वपूर्ण कार्य करते रहें। महिलाओं को कभी भी सेक्स स्लेव नहीं होना चाहिए। अगर यह ठीक से अनुवाद कर रहा है तो यह मेरे लिए बहुत अच्छा लगता है :-(

Minakshib
Dec 11, 2019
Dec 11, 2019

Thanks madm काम को बढावा देना ये सब मुझे बहुत अच्छा लगता है

Jill Langhus
Dec 11, 2019
Dec 11, 2019

आपका स्वागत है। सुन कर खुशी हुई:-)

Anita Shrestha
Dec 11, 2019
Dec 11, 2019

Thank you very much for sharing

Paulina Nayra
Dec 13, 2019
Dec 13, 2019

Hi Minakshib,
I always like a picture of women sitting in circles. It evokes a spirit of sharing of thoughts and dreams in a sacred space we can trust.
Yes, #IStandWithHer, too.#Let'sStandTogether.

Huggs.

Sister Zeph
Dec 15, 2019
Dec 15, 2019

Thank you for your leadership and for your story my dear

djamila ibrahim olame
Dec 23, 2019
Dec 23, 2019

Hello dear Minakshib,
Merci de partager, jolie travail

Empowering women , supporting each other, sharing our stories, believing in ourselves is what we need more than ever before. Great job Minakshib.

ANJ ANA
Sep 27
Sep 27

Dear Minakshi,
I am so sad to know that twenty-two girls are currently suffering from sexual violence and they are compelled for those activities to their job givers. Shame on them. Your concerns made me really very thoughtful that how can we help those vulnerable young girls to fight against sexual violence. Entrepreneurship and employment only can help them for standing against violence.
Hats off to you my sister. Please keep doing the good work.
Love and regards,
anjana
--------------------------------------------------------------------------------------------------------
प्रिय मिनाक्षी,
मुझे यह जानकर बहुत दुख हुआ कि वर्तमान में बीस-बीस लड़कियाँ यौनहिंसा से पीड़ित हैं और वे उन गतिविधियों के लिए मजबूर हैं, जो उनके ठेकेदार करते हैं। उन्हें शर्म आनी चाहिए। आपकी चिंताओं ने मुझे वास्तव में बहुत विचारशील बना दिया कि हम उन कमजोर युवा लड़कियोंको यौन हिंसा से लड़ने में कैसे मदद कर सकते हैं। हिंसा के खिलाफ खड़े होने के लिए उद्यमिता और रोजगार ही उनकी मदद कर सकते हैं।
आपको अच्छा कामके लिए सलाम। कृपया लिखते रहे, साझा करते रहे, कोइ हाल भी निकल सक्ता है
बहोत सुभेक्छ्या और प्यार सहित
अन्जना