मेरे गांव की महिला

Minakshib
Posted October 12, 2020 from India
महिला के साथ कनेक्ट होकर सक्षक्तीकरण का काम कर रही हूं
कोवीड-19के साथ हम लढ रहे है
कोवीड-19के साथ हम लढ रहे है: महिला का सशक्तीकरण होना चाहिए (1/1)

मैं महाराष्ट्र (इंडिया)से एक गांव से बोल रही हूं गावं में आज की महिला के बारे में मैं बोलना चाहती हूं .मार्च से जैसे भी कोवीड -19आया है तबसे महिला की हालत बहुत ही खराब चल रही है  .क्योकी महिला को पहेलेही ज्यादा काम करना पडता है . उनके हक्क और अधिकार छीने जाते है आज तो घर मे एकही महिला काम कर रही है आदमी को रोजगार नहीं है तो मैं कुछ भी नहीं कर सकता ऐसा बोलकर ओ चुपचाप बैठ सकता है लेकीन हमारे महिला को ऐसा करना नहीं आता ओ तो सुबह उठती है तो घर का काम करना पडता है बाद में घर चलाने के लिये थोडा बहुत इधर उधर का काम करने जाती है थोडा बहुत पैसा जमा कर घर चलाती है और बाद मे पती की नशापाणी की तक्लीफ उठाती है  बच्चे की पढाई का भी खर्चा होता है .ऐसे में खुद का ख्याल नहीं रख सकती . बाद में शरीर साथ नहीं देता ऐसे होते हूवे भी आज कोवीड -19 के खिलाफ हमारी महिला लढ रही है.ये सब आज महिला के साथ जो हो रहा है वो बहुत ही अन्याय कारक है हमे आहे महान रोखना होगा क्योकी आज महिला 50%है और ओ सुरक्षित नहीं है हैल्थ के सारे मे समस्या है.ये सब रूकना चाहिए हमे मरी हुई महिला को और भी मायना ना चाहिए ऐसे मुझे लगता है.

This story was submitted in response to My Voice, Our Equal Future.

Comments 10

Log in or register to post comments
Jill Langhus
Oct 14, 2020
Oct 14, 2020

नमस्ते मिनाक्षी, प्रिय,

आप कैसे हैं? वो बेचारी औरतें। मुझे खुशी है कि आप उनके लिए वहां हैं। मुझे उम्मीद है कि हर कोई सुरक्षित और अच्छा होगा, और यह सब जल्द ही समाप्त हो जाएगा। बहुत प्यार XX

Minakshib
Oct 14, 2020
Oct 14, 2020

मैं अच्छी हूं और मेरे साथ और भी महिला है काम करने के लिये

Jill Langhus
Oct 14, 2020
Oct 14, 2020

सुन कर खुशी हुई। मुझे आशा है कि आप और आपका परिवार सुरक्षित हैं और अच्छी तरह से, शहद। आशा है कि आपके पास एक महान है, आपके सप्ताह के बाकी दिन! XX

Minakshib
Oct 14, 2020
Oct 14, 2020

हां है और आप सभी का सहयोग भी है

Jill Langhus
Oct 14, 2020
Oct 14, 2020

धन्यवाद! XX

ANJ ANA
Oct 29, 2020
Oct 29, 2020

प्रिय मिनाक्षी,

आप समुदाय के लिए इतना अच्छा काम कर रहे हैं। वास्तव में, इस COVID और लॉकडाउन अवधि के दौरान महिलाओं के काम का बोझ बढ़ रहा है। कृपया सामाजिक दूरी पर विचार करें और काम करते समय अपने स्वास्थ्य का भी ध्यान रखें।
मैं आपके साथ हूं और कृपया मुझे बताएं कि हम कैसे समर्थन कर सकते हैं?

सादर, अंजना

Catherine De Freitas

I am so sad to see and hear about this. You , however is a champion and I admire you for your strength and taking a stand to support the women in the community. They are blessed to have you.
Have there been any improvements? Looking forward to hearing from you. Blessings and I hope you doing well.
Kate.

Thelma obani 2020
Apr 28
Apr 28

Please how do I read in English?
Anyone can help me.
Ma?

Minakshib
Apr 28
Apr 28

Gugl ka prayog karke pad sakte hai
Thanks

Paulina Nayra
Oct 06
Oct 06

Dear Minakshi,
Women should not allow themselves to be treated like that. And men should be trained to take care of themselves and the family without being dependent on the women to do the housework. There's a lot of work to do to train women to be assertive and the men to share parental responsibilities. I pray that you'll have the stamina and energy to continue empowering women in the community. Good luck Minakshi.
Huggs.